क्या आपको खाली पेट घी का सेवन करना चाहिए? क्या है इसपर विशेषज्ञों की राय

घी के फायदे तो हम सभी लोग जानते हैं। घी हमारे भोजन को स्वाद प्रदान करने में मुख्य भूमिका निभाता है, इसे स्वस्थ वसा के रूप में भी जाना जाता है। इतना ही नहीं घी में कई औषधीय गुण भी होते हैं। घी के कई आयुर्वेद लाभ भी हैं। घी मक्खन का एक स्पष्ट रूप है और इसका सेवन हर रोज खाली पेट किया जाये तो कोई हर्ज़ नहीं है।

खाली पेट घी पीना एक पुराना आयुर्वेदिक उपाय है जिसका इस्तेमाल कई फायदे के लिए किया जाता है। आधुनिक समय में भी, घी का उपयोग आपको बहुत सारे लाभ प्रदान कर सकता है यदि आप इसे उचित देखभाल के साथ और अपने द्वारा उपयोग किए जा रहे घी के सख्त गुणवत्ता रखरखाव के साथ उपयोग कर सकते हैं।

घी छोटी आंत में अवशोषण को बढ़ाता है और हमारे जठरांत्र संबंधी मार्ग के अम्लीय पीएच को कम करता है। गाय का घी एंटीऑक्सिडेंट का एक प्राकृतिक स्रोत है जो मुक्त कणों को खत्म करता है और ऑक्सीकरण प्रक्रिया को रोकता है।

घी में मौजूद ब्यूटिरिक एसिड और मध्यम-श्रृंखला ट्राइग्लिसराइड्स शरीर की जिद्दी वसा को जुटाने और उन्हें शरीर से बाहर निकालने में मदद करते हैं जिससे अच्छे कोलेस्ट्रॉल में वृद्धि होती है। आप शायद नहीं जानते होंगे, लेकिन घी इम्यून सिस्टम को भी बनाता है, जिसे आयुर्वेद में ओजस कहा जाता है।

इसका उपयोग अगर सीमित मात्रा में किया जाये तो यह कभी आपके शरीर को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुँचाएगी।

रसा क्या है?

रसा शरीर की हर कोशिका में उपलब्ध होता है। अच्छा और स्वस्थ रसा चमकदार और कोमल त्वचा के फायदे दिखाता है। यह एक स्वस्थ चमक प्रदान करता है। जब रसा संतुलित होता है, तो हम स्पष्ट धारणा, विश्वास, प्रेम और संतुलित भावना का अनुभव करते हैं; जब रसा संतुलन से बाहर हो जाता है, तो हम दुखी और भ्रमित महसूस करते हैं। इसलिए रसा में संतुलन बनाए रखना स्वस्थ रहने के महत्वपूर्ण बिंदुओं में से एक है।

आपको अपने दिन की शुरुआत घी से कैसे करनी चाहिए:

आयुर्वेद के अनुसार घी के हमारे स्वास्थ्य के लिए कई लाभ हैं जैसे आवश्यक फैटी एसिड प्रदान करना, याददाश्त में सुधार करना, उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करना, प्रतिरक्षा को बढ़ाना आदि। एक दिन में एक चम्मच घी फायदेमंद होगा, लेकिन यह गतिविधि स्तर और शरीर के वजन के आधार पर भिन्न हो सकता है।

  • सुबह उठकर एक चम्मच गाय के घी को गर्म पानी के साथ सेवन करें। यह आपके पाचन तंत्र को साफ करने में मदद करेगा।
  • आप कच्ची हल्दी में एक चम्मच घी मिलाकर भी उबाल सकते हैं। हर सुबह इस काढ़े का सेवन करने से प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता है और सूखी खांसी ठीक होती है।
  • आप कच्ची हल्दी और एक चम्मच घी को पीसकर भी सुबह का ड्रिंक बना सकते हैं। यह आपकी भूख को लंबे समय तक नियंत्रित करने में मदद करता है।

पोषण विशेषज्ञ भक्ति कपूर की राय:

इनके अनुसार खाली पेट घी खाने के छह फायदे हैं:

  1. यह आपकी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद है।
  2. इसमें प्राकृतिक डिटॉक्स पावर है जो आपके पाचन तंत्र को साफ कर सकती है।
  3. यह एक फिलर के रूप में काम कर सकता है और आपको लंबे समय तक फुलर रहने में मदद करता है।
  4. यह आपकी हड्डियों की ताकत और सहनशक्ति को बढ़ाता है।
  5. यह आंत के अनुकूल एंजाइमों के प्राकृतिक स्राव द्वारा पाचन शक्ति में सुधार कर सकता है।
  6. घी एकाग्रता बढ़ाने और मस्तिष्क के विकास में मदद करता है।

मासिक धर्म में ऐंठन के लिए घी का उपयोग:

क्या आप जानते हैं कि घी एक प्राकृतिक स्नेहक है? जी हाँ, यह हमारे जोड़ों और ऊतकों को चिकनाई देता है, साथ ही आपके जोड़ों के दर्द और ऐंठन से भी छुटकारा दिलाता है। साथ ही, गठिया से पीड़ित लोगों के लिए खाली पेट घी का सेवन अधिक उपयुक्त विकल्प है।

इसके अलावा घी में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड ऑस्टियोपोरोसिस की परेशानी को भी दूर कर सकता है। घी कई तरह से महिलाओं के लिए अद्भुत काम करता है। महिलाओं में कैल्शियम की कमी होने का खतरा होता है, यही वजह है कि उनमें ऑस्टियोपोरोसिस जैसी स्थितियां विकसित हो जाती हैं।

रोज सुबह नाश्ते से पहले एक चम्मच गाय का घी खाने से वे बिना किसी झंझट के कैल्शियम की मात्रा प्राप्त कर सकते हैं। आयुर्वेद कोशिकाओं को फिर से जीवंत करने के लिए खाली पेट एक चम्मच घी खाने की सलाह देता है।

घी का सेवन कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है

सुबह खाली पेट घी खाने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रहता है। घी में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है जो शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने में मदद करता है। यह हृदय स्वास्थ्य में भी सुधार करता है। घी वजन घटाने में भी मदद करता है।

यह त्वचा और शरीर को पोषण देता है। घी अपने समृद्ध पोषक तत्वों के साथ स्वास्थ्य का पोषण करता है। मक्खन की तुलना में गाय का घी स्वास्थ्यवर्धक होता है, और यह लैक्टोज असहिष्णु लोगों को भी सूट करता है।

घी हमारे शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। महिलाओं को स्वस्थ रहने के लिए खाली पेट एक चम्मच गाय का घी खाना चाहिए।

अंतिम और मुख्य बात:

अंत में हम आपसे यही कहना चाहेंगे कि सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि आप जिस घी का इस्तेमाल कर रहे है वो शुद्ध घी है या नहीं क्योंकि भारतीय बाजारों में जो घी मिल रही है वह शुद्ध नहीं है..आप भारतीय गाँव के घरों से शुद्ध देसी घी प्राप्त कर सकते हैं जो कि थोड़ा महंगा मिलेगा। खाली पेट घी कम मात्रा में खाने से लाभ होता है।

शुद्ध देसी घी आपको आंतरिक रूप से मजबूत बनता है, हम सभी इस बात से वाकिफ है कि गांवों में रहने वाले लोग हमसे ज्यादा मजबूत हैं इसका मुख्य कारण है उनका जैविक आहार।

आज की दुनिया खासकर शहरों में सब कुछ बहुत सारे रसायनों और अन्य हानिकारक चीजों से परिष्कृत किया जाता है। यहाँ आपको बाजार से शुद्ध रूप से जैविक कुछ भी नहीं मिल सकता है।

अगर आपको शुद्ध जैविक देसी घी कहीं से भी मिल जाए तो यकीन मानिए इसके बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होंगे लेकिन यह सुनिश्चित करें कि आप इसे कम मात्रा में ही खाएं।